Home > Letters from our Fellows > Shyam | Madhya Pradesh

मैं प्रतीति को धन्यवाद करना चाहता हूं जिसने हमको यहां मौका दिया। प्रतीति से जुड़ने के बाद मुझमें बहुत से परिवर्तन आए हैं और इन परिवर्तनों के माध्यम से बहुत अच्छा महसूस होता है। प्रतीति के माध्यम से हम समाज से जेंडर को आसानी से समझते या महसूस करते हैं। प्रतीति से जुड़ने के बाद वास्तव में जेंडर होता क्या है, ये कैसे उत्पन्न होता है और इससे हमारे समाज पर पड़ने वाले प्रभावों को आसानी से समझने में मदद होती है। प्रतीति एक ऐसा प्रोग्राम है जहां सभी साथियों को खुलकर भाग लेने का मौका दिया, सभी साथियों को सुना और समझा। प्रतीति से जुड़ने के पश्चात कभी भी ऐसा नहीं लगा क हम किसी के लिए कोई प्रोजेक्ट कर रहे हैं, ऐसा लगता है कि हम अपने लिए ही कार्य कर रहे हैं। हम खुद सीखने की कोशिश कर रहे हैं। और ऐसा लगता है हम सभी एक साथ मिलकर कुछ कर रहे हैं। हम चाहते हैं कि प्रतीति का आगे का सफ़र भी ऐसे ही सभी के साथ एक दूसरे की मदद करते हुए, सीखते हुए व्यतीत हो।

धन्यवाद !                                – श्याम प्रजापति, साथिया वेलफेयर सोसायटी